रविवार, 3 अप्रैल 2011

मुसलमान भाइयों सुनो !

देश को फिर बलिदानों की आवश्यकता है.भ्रष्टाचार व कुप्रबन्धन के खिलाफ अब आवाज तेज होनी ही चाहिए.खाड़ी देशों में जिस तरह तानाशाही सरकारों के खिलाफ बगावत है,उसी तरह इस देश मेँ भी प्रजातान्त्रिक ढंग से आन्दोलन आवश्यक है.भारत के मुसलमान क्या खाड़ी के मुसलमानों से कम हैं? इस देश के लिए मुसलमानों का योगदान कम नहीं है.तुम्हारे सहयोग के बिना देश में परिवर्तन असम्भव है.



भारतीय मुसलमान दुनिया के मुसलमानों से काफी बेहतर हैं.वे गैरमुसलमानों की संवेदनाएं महसूस करते हैं.वे कबीरों को आश्रय देना जानते हैं.



भ्रष्टाचार व काले धन की लड़ाई में हम सब को मिल सभी भेद भाव भुला कर अन्ना हजारे व रामदेव बाबा का समर्थन करना चाहिए.



भारत ने विश्व कप जीता अच्छा है.हमें इस पर खुशी मनाने का हक है लेकिन......?!

लोग मोबाइल पर मैसेज भेज रहे है HAPPY INDIA. लेकिन....



बस,ऐसे ही HAPPY INDIA..?एक ओर भुखमरी ,गरीबी ,लाचारी,बेरोजगारी, अन्याय,शोषण,मनमानी,भ्रष्टाचार,हिंसा,आदि!काहे को HAPPY INDIA...?कम से कम अभी जन लोकपाल विधेयक व काला धन के मामले पर अन्ना हजारे व राम देव बाबा का अभी तो समर्थन कर सकते है?तटस्थ भाव से जरा सोंचिए कि वे जिस मिशन को लेकर चल रहे है उससे क्या हमारा या देश का भला नहीं होने वाला क्या?



अपने ईमान पर मजबूत होना नाज की बात है.मुसलमान का अर्थ है अपने ईमान पर पक्का होना.

ऐ मुसलमान भाईयों ! देश के हित अन्ना हजारे व रामदेव बाबा के साथा आओ.


अशोक कुमार वर्मा 'बिन्दु'



1 टिप्पणी:

आशुतोष ने कहा…

बहुत बढ़िया विषय उठाया आप ने..हम सिर्फ ३० करोड़ का हिन्दुस्थान देखते है मगर बाकि को भूल जातें है...बधाइयाँ
...........
: नव वर्ष की शुभकामनायें..