गुरुवार, 17 सितंबर 2015

जाति तोड़ो समाज जोड़ो!

आरक्षण विरोधी अभियान बनाम आरक्षण (वरीयता) और जातिवाद
.
.
.

  (1)मन्दिरों में एक जाति विशेष के व्यक्तियों की नियुक्तियां रद्द की जॉय और प्रतियोगिता के द्वारा जातिवाद हीनता के आधार पर नियुक्तियां की जाएँ.
(2)श्राद पक्ष , घरेलु कर्मकांड आदि में जाति विशेष के व्यक्तियों के महत्व को रद्द किया जाये.

(3)गुजरात की तरह सब जगह सरकारी।पण्डितों की नियुक्ति की जाए,जो किसीएक जातिविशेष से  न हों
(4)गैर जातियों में।शादियों का विरोध करने के खिलाफ कानून बने

(5)जातिविरोधी कानून बने.
(6)अन्य

नोट:हम तो इतना ही ज्ञान रखते हैं कि हम व् जगत प्रकृतिअंश व ब्रह्मअंश हैं.जो किसी जाति मजहब धर्मस्थल किसी बिशेष रीति रिबाज आदि का मोहताज नहीं है.सभी को सम्मान की जरूरत है.

कोई टिप्पणी नहीं: