मंगलवार, 17 नवंबर 2015

ashok kumar verma sent you an image file!

आदिकाल से अबतक कब ये धरती आतंकवाद से विहीन हुई है?

🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
.
इतिहास युद्धों/नफरतों से भरा है.युद्ध व नफरत ही यदि महत्वपूर्ण है तो न जाने कब की दुनिया में शांति स्थापित हो चुकी होती.?
बड़ी बड़ी सत्ताएं हार गयीं लेकिन अकेले एक अंगुलिमान(माणवक) को ,अकेले को नहीं हरा पायीं.अकेले को बुद्ध ने हरा दिया.अपने अकेलेपन को समझो,उसे श्रेष्ठ अकेलेपन से द्वन्द कराओ.अंगुलिमान व बुद्ध की बहस एक चिरस्मरणीय बन गयी.जाति/मजहब/देश/आदि में उलझने से कुछ नहीं मिलने वाला.सम्पूर्णता से जुड़े बिना शांति नहीं...

🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
सच..... समय आ गया है कि अब समस्त विश्व "एक विश्व " की अवधारणा पर विचार करे। सभी देशों को एक साथ खुद को " संयुक्त राष्ट्र संघ " को समर्पित कर देना चाहिए। सीमाएं मिट जानी चाहिए। " वसुधैव कुटुम्बकम् " की धारणा अपनानी ही होगी। आश्चर्य है कि मनुष्य ने इतने विनाशक हथियार बना लिए हैं और इतनी मात्रा में बना लिए हैं जिससे प्रत्येक व्यक्ति को 1000 बार मारा जा सकता है अर्थात 1000 पृथ्वियों को नष्ट किया जा सकता है।  प्रेमपूर्ण धरती पर घृणा क्यों????? सभी को विचार करना ही होगा।
.
.
.
विश्व सम्विधान बिश्व सरकार !
🌺www.heartfulness.org🌺

कोई टिप्पणी नहीं: